आर्टिफिसर अप्रेंटिस

भारतीय नौसेना

असैनिक जगत के अन्य व्यवसायों की तुलना में भारतीय नौसेना नवयुवकों और युवतियों को करियर का बेहतर अवसर प्रदान करती हैI

The Indian Navy

इस कार्य के बारे में जानकारी

एक आर्टिफिसर के रूप में, आप भारतीय नौसेना के नौसेनिक के तौर पर अत्यंत ज़िम्मेदार पदों पर कार्य करने के लिए सर्वोत्तम तकनीकी प्रशिक्षण प्राप्त करेंगेI कार्मिकों का प्रबंधन ऑपरेशन की तकनीकी चुनौतियों सर्वाधिक जटिल प्रणालियों और उन्नत उपस्करों का अनुरक्षण करने के अतिरिक्त कामिका का प्रबंधन करना आर्टिफिसर की प्रमुख ज़िम्मेदारी है

काम का माहौल

एक आर्टिफिसर के कार्य विनिर्देश (विशेषज्ञता के अनुसार) में वाष्प उर्जा वाली मशीनरी डीजल और गैस टर्बाइन, निर्देशित मिसाइल और दूसरे स्वतः नियंत्रित होने वाली हथियार, सेंसर, वैज्ञानिकी उपस्कर, कंप्यूटर और अत्यधिक समुन्नत रेडियो और वैद्युतीय उर्जा प्रणालियाँ शामिल हैंI

प्रशिक्षण और प्रगति

चुने गए अभ्यर्थियों को आई एन एस चिल्का में नौ सप्ताह का बेसिक प्रशिक्षण दिया जाएगा और इसके बाद विविध नौसेना शिक्षण स्थापनाओं में आबंटित ट्रेड में प्रोफेशनल प्रशिक्षण दिया जाएगा शाखा / ट्रेड सैन्य सेवा की ज़रूरत के अनुसार आवंटित किया जाएगाI

शिक्षा के अवसर

आर्टिफिसर अप्रेंटिस सेवा की ज़रूरतों के अनुसार विभिन्न पेशेवर कोर्सों में भाग लेता हैI भारतीय नौसेना आर्टिफिसर अप्रेंटिस डिप्लोमा मानव संसाधन विकास मंत्रालय से भी मान्यता प्राप्त हैI

अर्हता और अपेक्षा

10+2 / समतुल्य परीक्षा में गणित तथा भौतिकी विषयों सहित कुल 60% या इससे अधिक अंक प्राप्त किए हैं और रसायन / जीव विज्ञान / कंप्यूटर विज्ञान में से किसी एक विषय में पढ़ाई की होI

आर्टिफिसर अप्रेंटिस अभ्यर्थी की भर्ती के दिन आयु 17 - 20 वर्ष होI